Bunty Aur Babli 2 : मस्ती के डबल डोज देती है Saif Ali Khan और Rani Mukerji की जोड़ी

Socialize

Bunty Aur Babli 2 : मस्ती के डबल डोज देती है Saif Ali Khan और Rani Mukerji की जोड़ी

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बालीवुड की नई फिल्म बंटी और बबली और बबली 2 का रिव्यू के बारेे में आपको  बतसैफ अली खान (Saif Ali Khan), रानी मुखर्जी (Rani Mukerji), सिद्धांत चतुर्वेदी (Siddhant Chaturvedi) की फिल्म बंटी और बबली 2 (Bunty Aur Babli 2) रिलीज हो गई है। फिल्म देखने से पहले यहां पढ़ें फिल्म का रिव्यू

फिल्म- बंटी बबली 2
कास्ट- सैफ अली खान, रानी मुखर्जी, सिद्धांत चतुर्वेदी, शरवरी वाघ, पंकज त्रिपाठी
डायरेक्टर- वरुण वी. शर्मा
कहां देखें- नजदीकी सिनेमाघरों में
रिव्यूअर- रसल डी'सिल्वा

सैफ अली खान (Saif Ali Khan), रानी मुखर्जी (Rani Mukerji), सिद्धांत चतुर्वेदी (Siddhant Chaturvedi) की फिल्म बंटी और बबली 2 (Bunty Aur Babli 2) रिलीज हो गई है। फिल्म साल 2005 में रिलीज हुई फिल्म बंटी और बबली का रीमेक है। कोरोना काल में ये फिल्म रिलीज हुई है और लोगों को फिल्म से खासी उम्मीदें थीं। इससे पहले रिलीज हुई फिल्म सूर्यवंशी ने लोगों का खासा मनोरंजन किया था और ऐसे में लोगों को सैफ की फिल्म से काफी आस थी। अब फिल्म लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरी है या नहीं? इसके लिए पढ़िए हमारा रिव्यू...

Read Also - Prithviraj Teaser OUT: भारत के सबसे बहादुर सम्राट की कहानी सुनाएंगे Akshay Kumar

फिल्म कहानी क्या है?

पुराने बंटी और बबली यानी कि विम्मी (रानी मुखर्जी) और राकेश त्रिवेदी (सैफ अली खान) ईमानदारी भरी जिंदगी जीने के लिए सेटल हो जाते हैं। हालांकि दोनों के पिछले काम उनका पीछा नहीं छोड़ते हैं। अचानक से शहर में बंटी और बबली नाम से दो नए शातिर लोग (सिद्धांत चतुर्वेदी, शरवरी वाघ) आ जाते हैं और बंटी-बबली के नाम से लोगों से ठगी करते हैं। इसके बाद जब पुलिस दोनों को खोजते-खोजते परेशान हो जाती है तो वे पुराने बंटी और बबली यानी कि सैफ और रानी पर शक करते हैं। इससे परेशान पुराने बंटी और बबली, नए बंटी-बबली को पकड़ने में लग जाते हैं।

Read Also - Katrina Kaif-Vicky Kaushal की शादी की वजह से जयपुर में गाड़ियों की हुई कमी!!

क्या नया है?


फिल्म में कास्ट की शुरुआत में एंट्री से लेकर आखिरी हिस्सा कमाल का है। फिल्म का ये पार्ट भी पहले पार्ट की तरह ही दर्शकों का जबरदस्त मनोरंजन करता है। फिल्म में पंकज त्रिपाठी, यशपाल शर्मा, बृजेंद्र काला, प्रेम चोपड़ा और असरानी जैसे स्टार्स की मौजूदगी इसे और अधिक मनोरंजक बनाती है। यशराज फिल्म्स ने फिल्म में कास्ट सिलेक्शन अच्छा किया है। फिल्म का प्लॉट अच्छे तरीके से चुना गया है और एडिटिंग के स्तर पर भी अच्छा काम हुआ है। फिल्म के डायरेक्टर वरुण वी. शर्मा ने एक मनमाफिक और अच्छा डेब्यू किया है। फिल्म की कास्ट की एक्टिंग ने तो फिल्म में चार चांद लगाए हैं। रानी मुखर्जी ने साबित कर दिया कि आखिर क्यों वो हर उम्र की एक्ट्रेस हैं। फिल्म के डायलॉग्स भी अच्छे हैं।

Read Also - Netflix ने 100 करोड़ में खरीदी Sooryavanshi, इस दिन होगी रिलीज

क्या नया नहीं है?


फिल्म में कई-कई जगहों पर लगने लगता है कि फिल्म में सब कुछ तेजी से हो रहा है और ये डाइजेस्ट करना थोड़ा मुश्किल होता है। जैसे कि एक वक्त में सैफ मिडिल एज अंकल का रोल करते हैं और फिर अचानक से मिडिल एज डूड बन जाते हैं। फिल्म का म्यूजिक भी इसकी कमजोर कड़ी है। ये पहले पार्ट की बराबरी तो बिल्कुल नहीं कर सकता। हालांकि ये भी सही है कि जब मेकर्स एक मजाकिया फिल्म बनाते हैं तो उसमें कुछ एक कमियां तो रहती ही हैं। इन्हें नजरअंदाज किया जा सकता है।

Post a Comment

0 Comments